अभी, इन 4 प्रकार के आम की खेती से कमाएं लाखों | जाने खेती के सही तरीके |

 4 प्रकार के आम की खेती से कमाएं लाखों:

उचित भूमि का चयन:

आम की खेती के लिए उचित भूमि का चयन करें। आम के पौधों को सुफलित रूप से उगाने के लिए खेत की मिट्टी को चुनाव करना महत्वपूर्ण है। आम के पौधों को पूरी तरह से सूर्य किरणों और ताजगी की आवश्यकता होती है, इसलिए एक खुले स्थान की भूमि चुनें। 4 प्रकार के आम की खेती से कमाएं लाखों

आम की खेती के लिए उपयुक्त मिट्टी, जलवायु, और तापमान के बारे में निम्नलिखित जानकारी है:

मिट्टी (भूमि):

मिट्टी की योग्यता खेती के लिए महत्वपूर्ण होती है। आम की खेती के लिए उपयुक्त मिट्टी नीली मिट्टी होनी चाहिए, जिसमें अच्छा पानी निकले और जल संचयन की सुविधा हो। साथ ही, मिट्टी का pH स्तर 5.5 से 7.5 के बीच होना चाहिए। 4 प्रकार के आम की खेती से कमाएं लाखों

जलवायु:

आम की खेती के लिए उचित जलवायु का चयन करें। आम पौधों को गर्मियों में ज्यादा गर्मी और ठंडियों में न्यूनतम तापमान में पानी की आवश्यकता होती है। 4 प्रकार के आम की खेती से कमाएं लाखों

तापमान:

आम की खेती के लिए उचित तापमान की आवश्यकता होती है। आम के पौधों को 24-30 डिग्री सेल्सियस के बीच तापमान पर बने रहना चाहिए। जब तापमान इस सीमा के बाहर होता है, तो आम की प्रदर्शनक्षमता प्रभावित हो सकती है। 4 प्रकार के आम की खेती से कमाएं लाखों

इन कारकों के साथ, आपको उचित पोषण, जल संचयन, और कीट-रोग प्रबंधन की भी चिंता करनी चाहिए। यह सभी प्राकृतिक घरेलू उपायों के माध्यम से किया जा सकता है। आपके क्षेत्रीय बाजार और प्रदर्शनक्षमता को बढ़ावा देने के लिए साइंटिफिक तथ्य और स्थानीय परंपराओं को ध्यान में रखना भी महत्वपूर्ण है। 4 प्रकार के आम की खेती से कमाएं लाखों

उपयुक्त प्राकृतिक संसाधनों का प्रबंधन:

आपको अपने खेत में जल, खाद, और पोषण के लिए उपयुक्त प्राकृतिक संसाधनों का प्रबंधन करना होगा। आम के पौधों को विशेष रूप से फॉस्फोरस, पोटैशियम, और आर्गेनिक खाद की आवश्यकता होती है। 4 प्रकार के आम की खेती से कमाएं लाखों

बीज चुनाव और बोया:

उचित आम के बीज का चयन करें और उन्हें खेत में बोएं। आम के पौधों को उचित दूरी और रोंगणों के खिलाफ सुरक्षित रखने के लिए उचित प्राकृतिक उपायों का भी पालन करें। 4 प्रकार के आम की खेती से कमाएं लाखों

पौधों की देखभाल:

आम के पौधों की नियमित देखभाल करें, जैसे की प्रुनिंग, पौधों की सौख की देखभाल, और रोग-पेस्ट संरक्षण।

जल संचयन और जल संचयन सुविधाओं का उपयोग:

खेत में सिंचाई के लिए उचित जल संचयन और सिंचाई की सुविधाएं प्रदान करें। आम के पौधों को उचित रूप से पानी दें, खासतर गर्मियों में। 4 प्रकार के आम की खेती से कमाएं लाखों

प्रकृतिक दुश्मनों के खिलाफ संरक्षण:

आम के पौधों को कीट-प्रबंधन और पोषण के साथ सुरक्षित रखने के लिए प्राकृतिक दुश्मनों के साथ संरक्षण करें।

फलों की फसल:

जब आम पूरी तरह से पक जाएं, तो उन्हें ध्यानपूर्वक तरीके से तोड़ें और संचित करें।

बाजार में पहुंचान:

आपके आमों को बाजार में पहुंचाने के लिए ठीक से पैकेजिंग करें और उन्हें स्थानीय बाजारों या फसल बाजारों में बेचने के लिए उपयुक्त साधनों का उपयोग करें।
यहाँ तक कि आपको आम की खेती की सफलता प्राप्त करने के लिए मेहनत, धैर्य और अनुभव की आवश्यकता होती है, लेकिन यह एक संवर्गिक और लाभकारी व्यापार हो सकता है। 4 प्रकार के आम की खेती से कमाएं लाखों

आम की खेती

Also Read: जानें ब्रोकली की खेती करना और कमाए लाखों | Learn to cultivate broccoli and earn lakhs.

आम की खेती से कमाई

आम की खेती से होने वाली कमाई यहां प्रस्तुत है:

मद प्रति एकड़ परिणाम
उत्पादन (किलो में) 8,000 – 12,000
उत्पादन लागत ₹1,20,000 – ₹1,80,000
कुल राजस्व (₹ में) ₹2,40,000 – ₹3,60,000
कुल लाभ (₹ में) ₹60,000 – ₹1,80,000
लाभ मार्जिन 25% – 50%

यह एक सामान्य अनुमान है और वास्तविक परिणाम विभिन्न कारकों पर निर्भर करते हैं:

  1. उत्पादन: यह किस्म, आगे की देखभाल, मौसम और प्राकृतिक कारकों पर निर्भर करता है।
  2. लागत: खाद, कीटनाशक, श्रम, ट्रांसपोर्ट आदि की लागत शामिल है।
  3. कीमत: मांग और आपूर्ति के अनुसार बाजार में कीमत बदलती रहती है।
  4. लाभ मार्जिन: कुल राजस्व और कुल लागत के अनुपात से लाभ मार्जिन निकलता है।

इन कारकों पर ध्यान देकर, किसान आम की खेती से अच्छी आय प्राप्त कर सकते हैं। साथ ही, प्रसंस्करण, ब्रांडिंग और सीधे खुदरा बिक्री जैसे अन्य विकल्पों से भी अतिरिक्त लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

आम की देशी प्रजाति

आम की देशी प्रजातियाँ अकेली शब्द “देशी आम” या “देशी मैंगो” के तौर पर जानी जाती हैं। ये प्रजातियाँ भारत और अन्य देशों में पाई जाती हैं और उच्च गुणवत्ता वाले आम देती हैं। कुछ प्रमुख देशी आम प्रजातियाँ निम्नलिखित हैं:

1 लंगडा (Langda):

यह प्रजाति भारत के विभिन्न हिस्सों में पाई जाती है, और इसकी विशेषता उसके लंगड़े (धारी) आम से होती है। यह आम अमबा, स्वादिष्ट रस, और उच्च गुणवत्ता के लिए प्रसिद्ध है.

2 दसहरी (Dashehari):

यह भारत के उत्तर प्रदेश के दसहरा गाँव के नाम पर प्रसिद्ध है और इसकी खास बात एक स्वादिष्ट और गाढ़ा रस है।

3 चौसा (Chausa):

यह प्रजाति पाकिस्तान के चौसा शहर के नाम पर प्रसिद्ध है और इसका रस स्वादिष्टता के साथ बहुत खास होता है।

4 आल्फॉन्सो (Alphonso):

यह प्रजाति भारत के महाराष्ट्र राज्य के रत्नागिरी और देवगढ़ जिलों में पाई जाती है और अपने मिठे और आमादे के रस के लिए प्रसिद्ध है।

ये केवल कुछ उदाहरण हैं, और दुनियाभर में ढ़ेरों देशी आम प्रजातियाँ होती हैं, हर प्रजाति अपने खास स्वाद और आकर्षण के लिए प्रसिद्ध होती है। ये आम अस्तित्व में जीवन्त संवर्ग होते हैं और आम के उपजने के सीजन में अपने स्वाद के लिए खूबसूरत और आकर्षक होते हैं।

आम की खेती

आम की खेती कैसे करते हैं | आम की खेती से कमाई | Mango Farming in Hindi

0Shares

Leave a Comment